Saturday, September 11, 2010

पहुंच गई भागवान।

मुल्ला नसरूद्दीन अपनी बीवी को दफ्नाकर घर लौटे लौटे ही थे कि बादल जोर-जोर से गरजने लगे, 
बिजली कड़कने लगी और मूसलाधार बारिश होने लगी।
एक गहरी आह भरकर मुल्ला नसरूद्दीन बोला - पहुंच गई भागवान।

2 comments:

  1. गणेशचतुर्थी और ईद की शुभकामनाये

    बढ़िया .........

    थोडा सा ध्यान यहाँ भी दे : -
    (जानिए पांचो पांडवो के नाम पंजाबी में ....)
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_11.html

    ReplyDelete

फोलो करेंगें तो आपके डेशबार्ड पर चुटकुले तुरन्‍त पहुंच जायेंगे।