Wednesday, January 6, 2016

जीवन एक संघर्ष है क्या?

संता की टांग की हड्डी टूट गयी, हॉस्पिटल गया तो देखा एक आदमी की दोनों टांगे टूटी थीं।
संता बोला- क्या आपकी दो बीवियां हैं?
..........................................
संता- यार बंता क्या तुम्हें रात में मच्छर परेशान नहीं करते? मुझे तो बहुत परेशान करते हैं।
बंता- कतई नहीं। मैं रात को शराब पीकर जब बिस्तर पर लेटता हूं तो मच्छर मुझे घेर लेते हैं, पहले तो नशे की हालत में मुझे उनके काटने का पता नहीं चलता और जब मैं होश में आता हूं,तो वे नशे में धुत हो चुके होते हैं।
..........................................

जियो और जीने दो...
संता - आज मैंने अपनी बीवी को अपने दूधवाले के साथ के साथ पिक्चर देखने जाते हुए देखा!
बंता- तुम उनके पीछे नहीं गए?
संता- नहीं यार, दरअसल वो पिक्चर मेरी देखी हुई थी!!!
..........................................

एक बार संता पेट्रोल-पंप पर स्कूटर लेकर गया और वहां जाकर पेट्रोल भरने वाले से बोला।
संता- भाई 5 रुपये का पेट्रोल डाल दो।
संता की बात सुन पेट्रोल भरने वाले सेल्समेन संता का मजाक उड़ाते हुए बोला, भाई इतना सारा पेट्रोल डलवा के कहां जाना है?
संता- जाना तो कहीं नहीं, बस हम जैसे अमीर लोग तो ऐसे ही पैसे उड़ाते हैं।
..........................................

संता- सोच रहा हूं कि अमेरिका घूम आऊं, कितना पैसा लगेगा?
बंता- कुछ भी नहीं।
संता- कैसे?
बंता- सोचने में पैसे नही लगते।
..........................................

पत्‍‌नी(आधी रात पड़ोसन के साथ घर लौटे पति से बोली)-पड़ोसन के साथ फिल्म देखने जाने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई? 
पति-अरे पगली! आजकल बीवी, बच्चों के साथ देखने लायक फैमिली फिल्म बनती ही कहां है।
..........................................

बंता- तुम्हारी पहली पत्‍‌नी कैसे मरी? 
संता- जहरीली ब्रेड खाने से।
बंता- और दूसरी?
बंता- और दूसरी? संता-कोई भारी चीज गिरने से, वह जहरीली ब्रेड खा ही नहीं रही थी।
..........................................

संता-पड़ोसी की लड़की को देख वो परीक्षा में फर्स्ट आई है। बेटा-उसको ही तो देखा था तो फेल हो गया।
बंता- यार संता एक बात बता कि मैं ऐसा क्या करूं कि मैं तेरी शादी के बाद मैं तेरी बीवी को फिल्म दिखाने ले जाऊं और तू नाराज भी ना हो?
संता खुश होते हुए, तू मेरी शादी अपनी बहन के साथ करा दे।
..........................................

संता और बंता के बीच बॉक्सिंग प्रतियोगिता हो रही थी।
बंता ने संता को ऐसा जोरदार घूंसा मारा कि संता जमीन पर गिर गया।
रेफरी ने गिनती शुरु की- एक..दो..तीन..
जमीन पर बेसुध पड़े संता से उसके मैनेजर ने कान में कहा- नौ के पहले मत उठना।
अभी कितने बजे हैं? बड़ी मुश्किल से आंखें खोलते हुए संता ने पूछा।
..........................................
संता सिंह एक बार पैसे जमा करने बैंक गये।
बैंककर्मी- ये नोट फटा हुआ है दूसरा दो..
संता- मैं अपने अकाउंट में जमा कर रहा हूं, फटा करूं या नया तुझे क्या मतलब??
..........................................
संता (बंता से)- अरे तेरे घर में आग लग गई और तू यहां बैठा है?
बंता (संता से)- तुम भी अजीब हो यार, चाबी तो मेरे पास है आग कैसे लग सकती है?
..........................................
बंता ने हजामत की दुकान खोली संता शेव कराने आया।
बंता- मूंछ रखनी है?
संता- हां
बंता (मूंछ काट कर )- ले रख ले जहां रखनी है!!!
..........................................
संता एक बैंक में खाता खोलने गया।
फॉर्म में एक जगह लिखा था- बताइये, हमारे बैंक में आपको क्या खास लगता है जिसकी वजह से आप हमारे यहां खाता खोलना चाहते हैं।
संता ने उस कॉलम में लिखा- आपकी रिसेप्शनिस्ट रीमा
..........................................
एक दिन संतासिंह अपनी मोटरसाइकिल पर पाकिस्तान से हिंदुस्तान आते समय बॉर्डर पर पकड़ा गया। उसने अपने कंधे पर एक बड़ा सा बैग लटका रखा था।
दरोगा बंतासिंह ने कड़ककर पूछा - इस बैग में क्या है?
संता सिंह ने नम्रतापूर्वक जवाब दिया - रेत है साबजी।
परन्तु दरोगा बंतासिंह को जवाब से संतोष नहीं हुआ। उसने सिपाहियों को बैग की तलाशी लेने का आदेश दिया। बैग में सचमुच रेत के अलावा कुछ नहीं निकला। मजबूरन दरोगा को उसे छोड़ना पड़ा।
कुछ दिनों बाद फिर इसी तरह संतासिंह मोटरसाइकिल पर कंधे पर बैग लटकाए पकड़ा गया । दरोगा बंतासिंह ने फिर बैग की तलाशी ली परन्तु उसमें रेत के अलावा कुछ भी ऐसा नहीं निकला जो आपत्तिजनक हो। संतासिंह फिर छोड़ दिया गया।
फिर तो ऐसा महीने में दो-तीन बार होने लगा। दरोगा बंतासिंह का शक भी बढ़ने लगा पर कोई सबूत हाथ न लगने से संतासिंह हर बार बचकर निकल जाता था।
लगभग सात-आठ महीने तक यही क्रम चलता रहा फिर एकाएक संतासिंह का आना बन्द हो गया। कुछ महीने बाद जब बंतासिंह छुट्टी पर आया तब उसने संतासिंह को दिल्ली के एक मंहगे रेस्त्रां में कॉफी की चुस्कियां लेते पकड़ा।
- संता, एक बात बताओ । विश्वास करो यह सिर्फ तुम्हारे और मेरे बीच ही रहेगा।
बंता सिंह ने दोस्ताना लहजे में कहा। - मुझे पूरा यकीन है कि तुम किसी चीज की तस्करी कर रहे थे । पर वह क्या चीज थी जो मेरी नजरें पकड़ नहीं सकीं? कम से कम रेत तो बिलकुल नहीं थी।
मोटरसाइकिल - संता सिंह ने मुस्कुराते हुए बताया।
..........................................
संता (बंता से)- अरे यार ये मोबाइल तो मुझे कंगाल कर देगा!
बंता (संता से)- क्यों? क्या हुआ?
संता- बार-बार दिखाता है- बैटरी लो, और मैं अब तक 56 बैटरी बदल चुका हूं !!!
..........................................
एक बार एक कुत्ता संता के पीछे पड़ा हुआ था और संता था कि जोर-जोर से हंसे जा रहा था।
बंता ने पूछा- भाई बचो, तुम्हारे पीछे कुत्ता पड़ा है और तुम हंसे ही जा रहे हो...आखिर बात क्या है?
संता बोला- बात ही हंसने की है--- मेरे पास एयरटेल का मोबाइल है फिर भी हच का नेटवर्क मेरे पीछे पड़ा हुआ है हा हा हा!
..........................................
संता केले के छिलके से फिसल कर गिर गया।
आगे चला तो दूसरे छिलके से फिसल कर गिर गया।
थोड़ा और आगे चला तो उसे तीसरा छिलका दिख गया। संता बोला- धत् तेरे की, अब फिर से गिरना पड़ेगा ..!
..........................................
अमेरिका से संता का एक दोस्त भारत घूमने आया।
कुतुब मीनार के पास पहुंच कर संता का दोस्त उससे बोला।
दोस्त- ये कुतुब मीनार कितने दिन में बना है?
संता- एक महीने में।
दोस्त- ये हमारे मुल्क में तो 2 हफ्ते में बन जाता।
थोड़ा आगे जाने के बाद दोस्त ने फिर संता से पूछा।
दोस्त- ये लाल किला कितने दिन में बना है?
संता- सिर्फ दो हफ्ते में।
दोस्त- हमारे मुल्क में तो 3 दिन में बन जाता।
जब वे दोनों ताजमहल के पास से गुजरे तो दोस्त ने संता से फिर पूछा।
दोस्त- ये ताजमहल कितने दिन में बना है?
संता- मैं खुद हैरान हूं की कब बना, कल शाम को तो नहीं था।
..........................................
संता- अगर कोई आदमी मर रहा हो तो उसके मुंह में क्या देना चाहिए?
बंता- बिरला प्लस सीमेंट।
संता- क्यों?
बंता- क्योंकि इसमें जान है!!!
..........................................
संता, बंता और जंता एक मोटर साइकिल पर कही जा रहे थे, रास्ते में पुलिस ने रोका।
पुलिसवाला - क्या आपको पता नहीं है कि मोटर साइकिल पर 3 की सवारी पर पाबंदी है ?
संता- सर पता है, इसीलिए तो 1 को वापस छोड़ने जा रहे हैं!!!
-------------------------------------------------------------------------------------------
संता किसी लड़की के घर रिश्ता लेकर गया।
लड़की के मां-बाप बोले- हमारी बेटी तो अभी पढ़ाई कर रही है। शादी-वादी की बात में समय लगेगा अभी...
संता बोला- कोई बात नहीं जी, हम एक घंटे बाद आ जाएंगे।
-------------------------------------------------------------------------------------------
संता ने अपने बॉस को फोन किया- सर, मैं आज ऑफिस नहीं आ पाऊंगा। मेरी तबियत ठीक नहीं है। सारा बदन दुख रहा है।
बॉस- देखो संता, आज तुम्हें आना तो पड़ेगा। तुम चाहो तो तबियत ठीक करने के लिए मेरा तरीका आजमा सकते हो। ऐसी हालत में मैं तो अपनी बीवी से सारे बदन की मालिश करवाता हूं और थोड़ी देर में सारा दर्द गायब समझे।
दो घंटे बाद संता ने बॉस को फिर फोन किया- आपने बिलकुल ठीक कहा था सर। आपने जैसे कहा मैंने वैसे ही किया और अब मैं बिलकुल तरोताजा महसूस कर रहा हूं। मैं बस थोड़ी ही देर में ऑफिस पहुंचता हूं और हां सर आपका घर और बीवी वाकई बहुत खूबसूरत है। 
-------------------------------------------------------------------------------------------
हास्य दरअसल.. बुद्धिमत्ता होता है...
संता (बंता से)- मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि अपनी वेडिंग एनीवर्सरी में पत्नी के लिए क्या खरीदूं।
बंता (संता से)- तुम अपनी पत्नी से ही क्यों नहीं पूछ लेते हो कि उसे क्या चाहिए।
संता- मैं उतना अधिक खर्च करना नहीं चाहता।
-------------------------------------------------------------------------------------------
किसी प्यार करने वाले को इतना भी नहीं सताना चाहिए...

संता के घर एक बिल्ली रहती थी जिससे वह बहुत परेशान था। एक दिन संता उससे तंग आकर कहीं छोड़कर आ गया पर संता के घर पहुंचने से पहले बिल्ली घर पहुंच गई।
संता दोबारा उसको बाहर छोड़कर आया पर वह फिर से घर पर वापस आ गई। संता को बहुत गुस्सा आ गया और इस बार उसने बिल्ली को बहुत दूर छोड़ दिया। फिर थोड़ी देर बाद अपनी बीवी को फोन किया और पूछा कि क्या बिल्ली घर आ गई है।
बीवी- हां, वह पहुंच गई है।
संता- उससे बोल मुझे आकर ले जाए, मैं रास्ता भूल गया हूं।

-------------------------------------------------------------------------------------------
संता अपने लिए लड़की देखने गया।
लड़की के बाप ने पूछा- बेटा, शराब पीते हो?
संता- शराब फिर कभी सही... अभी तो सिर्फ चाय चलेगी !!!
-------------------------------------------------------------------------------------------
संता- बचपन में मां की बात सुनी होती तो आज ये दिन न देखने पड़ते !
बंता- क्या कहती थी मां?
संता - जब बात ही नहीं सुनी तो मुझे क्या पता, क्या कहती थी!!!
संता को मुगलों ने पकड़ लिया और उसे अकबर के पास ले गए.. अकबर- इसको बंदी बना दिया जाए... संता- नहीं नहीं जहांपनाह ! रहम !!! मुझे बंदा ही रहने दो.. - See more at: http://www.jagran.com/jokes/santa-banta/jokes-12646211.html?src=ART-JOK#sthash.B4GWWsbA.dpuf
संता को मुगलों ने पकड़ लिया और उसे अकबर के पास ले गए.. अकबर- इसको बंदी बना दिया जाए... संता- नहीं नहीं जहांपनाह ! रहम !!! मुझे बंदा ही रहने दो.. - See more at: http://www.jagran.com/jokes/santa-banta/jokes-12646211.html?src=ART-JOK#sthash.B4GWWsbA.dpuf
-------------------------------------------------------------------------------------------
संता को मुगलों ने पकड़ लिया और उसे अकबर के पास ले गए..
अकबर- इसको बंदी बना दिया जाए...
संता- नहीं नहीं जहांपनाह ! रहम !!! मुझे बंदा ही रहने दो.. 


संता को मुगलों ने पकड़ लिया और उसे अकबर के पास ले गए.. अकबर- इसको बंदी बना दिया जाए... संता- नहीं नहीं जहांपनाह ! रहम !!! मुझे बंदा ही रहने दो.. - See more at: http://www.jagran.com/jokes/santa-banta/jokes-12646211.html?src=ART-JOK#sthash.B4GWWsbA.dpuf

1 comment:

फोलो करेंगें तो आपके डेशबार्ड पर चुटकुले तुरन्‍त पहुंच जायेंगे।