Saturday, March 19, 2011

टि‍न्‍कू जि‍या की समझदारी, जवानी-2011, बाबा चटोरेप्रसाद का व्रत और उपदेशक चूहा

शिक्षक (टिंकू से) : 2 अक्टूबर 1869 को क्या हुआ था। टिंकू चुपचाप खड़ा रहा। शिक्षक ने उसके कान पकड़कर जानकारी दी -
बेवकूफ, गधे, 2 अक्टूबर 1869 को हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म हुआ था।
शिक्षक का दूसरा प्रश्न - 12 मार्च 1930 (गांधी जी ने नमक सत्याग्रह, दाण्डी मार्च किया था) को क्या हुआ था?
टिंकू (दिमाग पर जोर देने की कोशिश और कुछ जोड़ घटाव के बाद): सर 12 मार्च 1930 को गांधी जी 60 साल पांच महीने और 10 दिन के हो गये थे।
-----------------x
-----------------

संता ने देखा कि एक बुजुर्ग सा दिखने वाला व्यक्ति काफी हंसी-मजाक कर रहा था और जवान महिलाओं के बीच उसने काफी अच्छी महफिल जमाई हुई थी। तो इस जवांदिली का राज जानने के लिए संता उसके करीब गया और बोला-
जनाब, मैंने इस उम्र के आदमी को आज तक इतना खुशमिजाज, फुर्तीला और जिन्दादिल नहीं देखा। आपकी इस उम्रदराज खुशी का राज क्या है?
बंता बोला - कुछ नहीं जी, मैं खूब तेल नमक मिर्च वाला भोजन लेता हूं, कभी भी कसरत वगैरह नहीं करता, रोज दो चार बोतले शराब की और 15-20 पैकेट सिगरेट के पी जाता हूं।
संता (हैरान होकर) - महाशय आपकी उम्र क्या है?
बंता - केवल 27 साल।
-----------------x-----------------

बाबा चटोरेप्रसाद को भक्तों ने चने के झाड़ पर चढ़ा दिया। तो बाबा ने दिन भर व्रत का व्रत रख लिया। 12 बजे से ही बाबा को भूख ने सताना शुरू कर दिया। 2 बजे बाबा ने कमरे मे लेटे लेटे भक्तों से पूछा - सारा दिन हो गया, सूरज डूबा की नहीं।
भक्त - नहीं महाराज देर है।
बाबा ने 4 बजे पूछा - सूरज डूबा की नहीं।
भक्त - नहीं महाराज देर है।
बाबा ने शाम 6 बजे पूछा - सूरज डूबा की नहीं।
भक्त - बस डूबने ही वाला है महाराज।
बाबा - मुझे पता है, ये अपने साथ मुझे भी लेकर डूबेगा।
 
-----------------x-----------------

सारे जंगल में ही भांग घुली है
एक गधे ने सिगरेट सुलगाई और सुट्टा लगाने ही वाला था कि एक चूहा आया और बोला - भाई! ये नशा करना छोड़ो, मेरे साथ आओ और देखो, जंगल कितना सुन्दर है।

गधा चूहे के पीछे पीछे चल दिया। कुछ आगे एक हाथी कोकीन पी रहा था उसे देखकर भी चूहा बोला
- भाई! ये नशा करना छोड़ो, मेरे साथ आओ और देखो, जंगल कितना सुन्दर है।

हाथी चूहे के पीछे पीछे चल दिया। कुछ आगे एक भालू अफीम खा रहा रहा था उसे देखकर भी चूहा बोला - भाई! ये नशा करना छोड़ो, मेरे साथ आओ और देखो, जंगल कितना सुन्दर है।

भालू भी चूहे के पीछे पीछे चल दिया। कुछ आगे चलने पर एक शेर शराब का पैग तैयार करता हुआ मिला।  उसे देखकर भी चूहा बोला - भाई! ये नशा करना छोड़ो, मेरे साथ आओ और देखो, जंगल कितना सुन्दर है।
शेर ने गिलास साईड में रखा और चूहे को 5-10 थप्पड़ रसीद किये और उसके साथ आये जानवरों के झुण्ड की ओर मुखातिब होकर बोला - कम्बख्त ये चूहा कल भी मेरे पास भांग चढ़ाकर आया था और मुझे 3 घंटे तक जंगल घुमाता रहा, मेरी थकान अभी तक नहीं उतरी है।
 -----------------x-----------------

पुरूषों की वोटिंग करने की वैधानिक आयु: 18 वर्ष।
पुरूषों की शादी करने की वैधानिक उम्र : 21 वर्ष।
यानि भारत सरकार भी यह मानती है कि भारतीय पुरूष 18 वर्ष की उम्र में देश तो चला सकते हैं पर किसी औरत को नहीं संभाल सकते।

 -----------------x-----------------
आदमी बुरे अनुभवों से अच्छे सबक लेता है और बुरे सबक उसे अच्छे निर्णय करने पर मजबूर करते हैं।
क्षमा मांगते वक्त खेद व्यक्त ना करें और खेद करते समय क्षमा ना मांगे।

 -----------------x-----------------
यदि आप सच बोल रहे हैं तो आपको कुछ भी याद रखने की जरूरत नहीं होती।
 -----------------x-----------------
 आपकी यह बात दूसरों को बहुत प्रभावित करती है कि वो आपके कहे बिना ही आपकी अच्छाईयों को जान लें।

9 comments:

  1. सुन्दर , मनोरंजन भरी प्रस्तुति।
    होली की हार्दिक शुभकामनायें ।

    ReplyDelete
  2. सबको होली की बहुत बहुत शुभकामनाऍं....

    ReplyDelete
  3. सभी बढ़िया हैं..... रंग पर्व की मंगलकामनाएं

    ReplyDelete
  4. बहुत मनोरंजक...होली की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया/मजेदार भी.


    आपको एवं आपके परिवार को होली की बहुत मुबारकबाद एवं शुभकामनाएँ.

    सादर

    समीर लाल

    ReplyDelete
  6. रोचक,मजेदार,जायकेदार
    होली के पावन रंगमय पर्व पर आपको और सभी ब्लोगर जन को हार्दिक शुभ कामनाएँ.
    'मनसा वाचा कर्मणा' से न रुठियेगा.

    ReplyDelete
  7. सुंदर प्रस्तुति.....

    होली की हार्दिक शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  8. होली की बहुत बहुत शुभकामनाऍं....

    ReplyDelete

फोलो करेंगें तो आपके डेशबार्ड पर चुटकुले तुरन्‍त पहुंच जायेंगे।